महिलाओं पर बयानवीर बाबा रामदेव के विवादित बोल, महाराष्ट्र महिला आयोग ने बाबा को भेजा नोटिस

Share this news

National Desk:  योगगुरु बाबा रामदेव अपने विवादित बोल से एक बार फिर मुश्किलों में फंस गए। महाराष्ट्र के ठाणे में एक कार्यक्रम में बाब रामदेव ने महिलाओं के पहनावे को लेकर टिप्पणी की थी, लेकिन इस टिप्पणी पर बवाल इतना बढ़ गया कि (baba Ramdev controversial remarks on women) महाराष्ट्र महिला आयोग ने बाबा रामदेव को नोटिस भेजकर आयोग के सामने पेश होने के लिए कहा है।

दरअसल शुक्रवार को बाबा रामदेव ने महिलाओं के पहनावे पर टिप्पणी की, जिससे राजनीतिक और सामाजिक हलकों में आक्रोश है। योग प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रामदेव ने कहा, महिलाएं साड़ियों में अच्छी लगती हैं, वह सलवार सूट में अच्छी लगती हैं, और मेरे विचार में वह बिना कुछ पहने भी अच्छी दिखती हैं। बाबा रामदेव जिस समय यह बयान दे रहे थे उस समय मंच पर उनके साथ बालासाहेबंची शिवसेना सांसद श्रीकांत शिंदे, मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के बेटे और भारतीय जनता पार्टी के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस और अन्य प्रमुख हस्तियां मौजूद थीं।

बाबा रामदेव उन महिलाओं से बातचीत कर रहे थे जो कॉन्क्लेव के लिए अपने योग के कपड़े और साड़ियां लेकर आई थीं। बाबा ने कहा कि अगर उनके पास कपड़े बदलने का समय नहीं है तो कोई समस्या नहीं है और वह इसे घर जाने के बाद कर सकते थे, इसके बाद उन्होंने यह विवादित टिप्पणी की, जिसका हर जगह विरोध हो रहा है।

उधर इस बयान पर महाराष्ट्र महिला आयोग ने बाबा रामदेव को नोटिस भेजकर दो दिन के भीतर आयोग के सामने पेशी के लिए कहा है। नोटिस में कहा गया है, बाबा रामदेव ने महिलाओं के सम्मान और प्रतिष्ठा को क्षती पहुचाने वाली अभद्र टिपणी कि है. इनके इस वक्तव्य की शिकायत आयोग कार्यालय मैं प्राप्त हुई है.महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग इस मामले का संज्ञान लेते हुए इसका कडा विरोध करता है।इसलिये महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग की धारा 12 (2) और 12 (3) , 1993 के अनुसार आयोग बाबा रामदेव को उनके वक्तव्य का खुलासा दो दिनों के भीतर आयोग कार्यालय में प्रस्तुत करने का निर्देश देता है।

 

 

 

 

(Visited 113 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In