एक्शन में STF: 2016 में हुई थी VDO भर्ती में गड़बड़ी, 6 साल बाद शिक्षक हुआ गिरफ्तार

Share this news

Kashipur/Pauri: 2016 की वीडीओ भर्ती घोटाले में 6 साल बाद पहली गिरफ्तारी हुई है। मुख्यमंत्री पुष्कर धामी द्वारा मामले की जांच विजिलेंस से हटाकर एसटीएफ को सौंपी गई थी। (first arresting in 2016 vdo exam scam)। जिसके तहत एसटीएफ ने एक शिक्षक को गिरफ्तार किया है।

वर्ष 2016 में ग्राम विकास अधिकारी के लिए परीक्षा हुई थी। परीक्षा में व्यापक पैमाने पर धांधली के आरोप लगे थे। जिसके बाद भर्ती को रद्द कर दिया गया था। 2020 में इसकी जांच विजिलेंस को सौंपी गई थी। विजिलेंस ने अपनी जांच में पाया। था कि ओएमआर शीट के साथ छेड़छाड़ की गई है। लेकिन मामले में कोई सख्त एक्शन नहीं हो पाया था।

Uksssc पेपर लीक घोटाला सामने आने के बाद सीएम पुष्कर धामी ने 2016 के वीडीओ परीक्षा की जांच भी एसटीएफ को सौंप दी। जिस पर एसटीएफ ने त्वरित कार्रवाई करते हुए गहन पूछताछ और साक्ष्य के आधार पर की कार्यवाही शुरू की गई
आज उपरोक्त 2016 की ग्राम विकास अधिकारी परीक्षा में पुख्ता साक्ष्य के आधार पर एक पौड़ी गढ़वाल में तैनात शिक्षक मुकेश शर्मा को गिरफ्तार किया है।मुकेश शर्मा धुमाकोट के राजकीय प्राथमिक विद्यालय छुलसिया में तैनात है। जो वर्तमान में काशीपुर में निवास करता है।

(Visited 3632 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In