Global Investors Summit का PM ने किया शुभारंभ, हिमालयी उत्पादों का ब्रांड लॉन्च, अडानी ग्रुप करेगा 3700 करोड़ का निवेश

Share this news

DEHRADUN: उत्तराखंड ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट का देहरादून में शानदार शुभारंभ हो गया। दोदिन तक चलने वाले सम्मेलन का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया। निवेशक सम्मेलन में देश विदेश के हजारों निवेशक मौजूद हैं, जो दो दिन तक उत्तराखंड में निवेश की संभावनाओं पर मंथन करेंगे। कार्यक्रम की शुरुआत से पहले प्रर्धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां मौजूद स्टॉल का निरीक्षण किया। राज्य में विभिन्न सेक्टर में निवेश के लिए अभी तक तीन लाख करोड़ रुपये के एमओयू हो चुके हैं। कई बड़े निवेश के लिए सम्मेलन में करार हो सकते हैं।

उत्तराखंड आकर मन धन्य हो जाता है

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यहां आकर मन धन्य हो जाता है। कुछ वर्ष पहले जब मैं बाबा केदार के दर्शन को निकला था तो अचानक मेरे मुंह से निकला था कि 21वीं सदी का ये तीसरा दशक उत्तराखंड का दशक है। मुझे खुशी है कि उस कथन को मैं लगातार पूरा होते देख रहा हूं। पीएम ने कहा कि मैं देशवासियों को भरोसा दिलाता हूं कि मेरे तीसरे कार्यकाल में भारत दुनिया की टॉप थ्री इकॉनमी में आकर रहेगा। मोदी ने अगले आम चुनाव को लेकर भी ये इशारा किया।

उत्तराखंड है वेडिंग डेस्टिनेशन, वेड इन इंडिया का नारा

प्रधानमंत्री ने कहा कि अब जरूरत है कि मेक इन इंडिया की तरह वेड इन इंडिया भी चलाया जाए। आप कुछ निवेश करना पाओ या नहीं लेकिन अपने परिवार की एक डेस्टिनेशन वेडिंग अगले पांच साल में उत्तराखंड में करें। अगर पांच साल में पांच हजार डेस्टिनेशन वेडिंग भी उत्तराखंड में हुई तो ये एक नया क्षेत्र खड़ा हो जाएगा। देश के धन्ना सेठ इस बारे में सोचेंगे तो बड़ा बदलाव आएगा। पीएम ने निवेशकों से कहा कि आप सभी बिजनेस की दुनिया के दिग्गज हैं। आप अपने काम का विश्लेषण करते हैं। आप सभी चुनौती का आकलन करके रणनीति बनाते हैं। ऐसा करने से हमें चारों तरफ एस्पिरेशन, होप, सेल्फ कॉन्फिडेंस दिखेगी। देश में पॉलिसी गवर्न सरकार दिखेगी।

पीएम ने कहा कि भारत की मजबूती का फायदा उत्तराखंड समेत देश के हर राज्य को हो रहा है।उत्तराखंड इसलिए भी विशेष है क्योंकि यहां डबल इंजन सरकार है। डबल प्रयास चारों तरफ दिख रहे हैं। राज्य सरकार तेजी से यहां काम हो रहा है। दिल्ली देहरादून एक्सप्रेसवे से दूरी 2.5 घंटे की होने जा रही है। ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल लाइन से रेल कनेक्टिविटी आसान होने जा रही है। पहले की सरकारें सीमावर्ती इलाकों को कम से कम पहुंच वाली थी। डबल इंजन ने इस धारणा को बदला। हम सीमावर्ती गांवों को विकसित करने जा रहे हैं।

हाउस ऑफ हिमालया लॉन्च

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शुक्रवार को वैश्विक निवेशक सम्मेलन के दौरान हाउस ऑफ हिमालयाज की लांचिंग की। अभी तक हिमाद्री, हिलांस, ग्राम्यश्री जैसे तमाम उत्पाद अलग-अलग नाम से बाजार में जाते हैं, लेकिन अब सभी हाउस ऑफ हिमालयाज के नाम से पहचाने जाएंगे। दरअसल, फरवरी में धामी कैबिनेट ने एक निर्णय लिया था कि प्रदेश के सभी उत्पादों की क्वालिटी, मार्केटिंग व ब्रांडिंग के लिए समिति का गठन किया जाए। इस आधार पर एक समिति का गठन किया गया है। इस समिति ने हाउस ऑफ हिमालयाज नाम पर मुहर लगाई। इस नाम का रजिस्ट्रेशन करा दिया गया है। ट्रेडमार्क के लिए आवेदन भी कर दिया गया है। पीएम मोदी ने सरकार को हाउस ऑफ हिमालयाज की बधाई दी। उन्होंने कहा कि यहां के लोकल उत्पादों को विदेशी बाजार में स्थापित करने की पहल है। ये वोकल फ़ॉर लोकल और लोकल फ़ॉर ग्लोबल का कारक बनेगा।

अडानी ग्रुप करेगा 3700 करोड़ का निवेश

निवेशक सम्मेलन में पहुंचे अडानी एंटरप्राइज के निदेशक प्रणव अडानी ने आमंत्रित करने के लिए प्रदेश सरकार का आभार व्यक्त किया। कहा कि देहरादून आना हमेशा सौभाग्य की बात होती है, जो मेरे ह्रदय में विशेष स्थान रखता है। साथ ही कहा कि उत्तराखंड की भूमि लैंड ऑफ गॉड है। अडानी ग्रुप ने घोषणा की कि,  अम्बुजा सीमेंट के रुड़की प्लांट की क्षमता बढ़ाने के लिए 300 करोड़ का निवेश होगा। कुमाऊं में 800 करोड़ से हम स्मार्ट बिजली मीटर लगाने जा रहे हैं। पंतनगर में 1000 एकड़ भूमि पर एयरोसिटी बनाएंगे।  ऋषिकेश देहरादून के बीच 1400 करोड़ ग्राइंडिंग यूनिट पर खर्च करेंगे। 200 स्टेट की बसें सीएनजी से चलाएंगे।

जिंदल ग्रुप ने किया ये एलान

जेएसडब्ल्यू के एमडी सज्जन जिंदल ने भी उत्तराखंड में बड़े  निवेश का एलान किया। उन्होंने कहा कि  उत्तराखंड में पांच या छह साल में 1500-1500 मेगावाट के दो पंप स्टोरेज प्लांट लगाएंगे। 15 हजार करोड़ से ऊपर का खर्च होगा और हजारों को रोजगार देगा। हमने केदारनाथ में क्लीन केदारनाथ प्रोजेक्ट शुरू किया है। प्लास्टिक वेस्ट के लिए, जो तीर्थ यात्री प्लास्टिक बोतल वेंडिंग मशीन में देंगे, उन्हें 10 रुपये मिलेंगे। इसी साल शुरू किया है। केदारनाथ में इस प्रोजेक्ट की सफलता के बाद हम अन्य धार्मिक स्थलों पर भी इसे लगाएंगे

10 हजार रोजगार देगा पतंजलि

बाबा रामदेव ने कहा कि हमने अब तक उत्तराखंड में बड़ा निवेश किया है। पतंजलि 10 हजार करोड़ का निवेश करेगा और 10 हजार लोगों को रोजगार देगा। मैं सभी कॉरपोरेट हाउस से आह्वान करता हूं कि अपना एक कॉरपोरेट हाउस उत्तराखंड में भी बना लो, आपकी उम्र बढ़ जाएगी।

आईटीसी बनाएगा 4 नए होटल

हरिद्वार में मैनुफैक्चरिंग कॉम्प्लेक्स की हमारी तीन यूनिट हैं। हमारे अनुभव अच्छे रहे हैं। नौ होटल के अलावा अब हम चार नए होटल बनाएंगे। हम अपने फूड प्रॉडक्ट के लिए विस्तार करेंगे। पेपर बोर्ड बिजनेस के क्षेत्र में हम उत्तराखंड में प्लांट लगाने जा रहे हैं। 4000 करोड़ की पल्प मिल लगाएंगे।

(Visited 96 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In