Ad banner
Ad banner

पहाड़ के किसान की पीड़ा सुनिए नेताजी! खेती करें तो करें कैसे? जंगली जानवर सारी मेहनत पर पानी फेर देते हैं

Share this news

डायलॉग डेस्क:  प्रदेश में विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां तेज हो गई हैं। नेता फिर से वादों की बरसात करेंगे। लेकिन ये भी जानना जरूरी है कि जनता की कसौटी पर नेताजी के पिछेल पांच साल का कामकाज कैसा रहा। देवभूमि डायलॉग प्रदेश की सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में जनता के बीच पहुंचने का प्रयास करेगा और अपने खास कार्यक्रम सुनिए नेताजी के जरिए हर गांव, हर मुहल्ले से  ग्राउंड रिपोर्ट आपके सामने ले कर आ रहा है। ये एख ऐसा मंच है जहां जनता अपने नेता से पिछले पांच साल का हिसाब किताब मांगेगी। साथ ही  अपनी ऐसी समस्याओं से अवगत कराएगी जिन पर वादे तो खूब हुए लेकिन समाधान अभी तक नहीं हो पाया।  (suniye netaji, bhimtal farmers suffers huge loss due to crop damage by wild animals)

#सुनिए_नेताजी कार्यक्रम में आज भीमताल विधानसभा के #बेरीजाला गांव से खास ग्राउंड रिपोर्ट आपेक लिए लेकर आ रहे हैं। यहां कुदरत ने खेती का अच्छा खासा तोहफा दिया है। किसान जमकर मेहनत भी करते हैं, लेकिन जंगली जानवर उनकी सालभर की मेहनत पर पानी फेर देते हैं। जब फसल काटने की बारी आती है, तब तक जंगली सुअर, बंदर, सौल . भालू आदि फसल को बुरी तरह तबाह कर देते हैं। किसानों को न फसल मिल पाती न ही सही तरीके से उसका घास मिल पाता। ये कमोबेश पहाड़ के हर क्षेत्र में किसान की पीड़ा है। किसानों की मांग है कि सरकार वादे तो बहुत करती है लेकिन आज तक जंगली जानवरों से फसलों को बचाने के लिए कोई ठोस कार्ययोजना नहीं लाई गई।

देवभूमि डालॉग की सरकार से अपील है कि जानवरों से फसलों को बचाने के लिए कड़े कदम उठाए,  और जो बडे़ बड़े वादे किए हैं उन्हें धरातल पर लाकर दिखाए।

#DevbhoomiDialogue
#SuniyeNetaji
#AssemblyElection2022
#UKElection2022
#Bhimtal
#BerijalaVillage
#GroundReport
#farmers
#PahariFarmers
#CropsDamage
Devbhoomi Dialogue

(Visited 110 times, 2 visits today)

You Might Be Interested In