भीड़ का फायदा उठाकर 88 यात्रियों का कर दिया फर्जी रजिस्ट्रेशन, दो टूर ऑपरेटरों पर FIR दर्ज

Share this news

UTTARKASHI: चारधाम यात्रा में उमड़ रही श्रद्धालुओं की भारी भीड को नियंत्रित कर पाना सरकार के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। भीड़ नियंत्रित करने के लिए सरकार ने कई सख्त कदम उठाए हैं। औऱ सभी श्रद्धालुओं के लिए पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है। लेकिन इसकी आड़ में रजिस्ट्रेशन में फऱ्जीवाडे का मामला भी सामने आया है। उत्तरकाशी पुलिस ने गंगोत्री यमुनोत्री धाम के श्रद्धालुओं का फर्जी रजिस्ट्रकेशन करन पर दो टूर ऑपरेटरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

यमुनोत्री एवं गंगोत्री धाम में दर्शन के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ रही है। इस बीच गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित रजिस्ट्रेशन सेन्टर हीना में चेकिंग के दौरान रजिस्ट्रेशन बार कोड चैक करने पर दो यात्री बसों की रजिस्ट्रेशन की तिथि फर्जी पायी गई। दोनों बसों में 88 तीर्थयात्री सवार थे। श्रद्धालुओं द्वारा बताया गया कि हरिद्वार से टिंकू व माटू नामक दो टूर ऑपरेटर द्वारा उनके रजिस्ट्रेशन में फर्जीवाड़ा कर उनके साथ छलावा किया गया है। श्रद्धालुओं की तहरीर पर दोनों टूर ऑपरेटरों के विरुद्ध कोतवाली मनेरी पर सरकारी दस्तावेज पर धोखे से कूटरचना कर फर्जी रजिस्ट्रेशन तैयार करने पर धारा 420/467/468/471 भादवि में दो अभियोग पंजीकृत किये गये हैं, विधिक कार्यवाही प्रचलित है।

पंजीकरण आधिकारिक साइट से ही करें

एसपी उत्तरकाशी अर्पण यदुवंशी ने बताया कि उत्तरकाशी पुलिस श्रद्धालुओं की यात्रा को सरल, सुगम व सुरक्षित बनाने के लिए लगातार तत्पर है। कोई भी यात्री बिना रजिस्ट्रेशन व रजिस्ट्रेशन की तिथि से पूर्व या बाद में यात्रा पर न आएं। सभी श्रद्धालु अपना पंजीकरण आधिकारिक साइट से ही करें और किसी भी जालसाज के बहकावे में न आएं। उन्होंने कहा कि पंजीकरण सेंटर में लगातार चेकिंग की जा रही है। यदि किसी का पंजीकरण फर्जी पाया जाता है तो उन्हें किसी भी दशा में यात्रा नहीं करने दी जाएगी।

सरकार की अपील, बिना रजिस्ट्रेशन यात्रा के लिए ना निकलें

उत्तराखंड प्रशासन और पुलिस ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि बिना रजिस्ट्रेशन चार धाम यात्रा पर बिलकुल ना निकलें इतना ही नहीं अधिकृत व्यक्ति से ही रजिस्ट्रेशन कराएँ वर्ना फर्जीवाड़ा हो सकता है। यदि परेशानियों से बचना है तो चार धाम यात्रा नियमों का पालन करते हुए करें और जाँच परख कर सही और अधिकृत व्यक्ति से ही रजिस्ट्रेशन कराएँ।

19 मई तक हरिद्वार, ऋषिकेश के ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन काउंटर बंद

उधर उत्तराखंड सरकार ने सभी प्रदेशों की सरकारों को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि वे अपने यहाँ के श्रद्धालुओं से भी अपील करें कि बिना रजिस्ट्रेशन के लिए कोई भी चार धाम की यात्रा के लिए ना निकले। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सरकार ने हरिद्वार और ऋषिकेश में खोले ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन काउंटर 19 मई तक बंद कर दिए हैं, जिससे आगे निकले यात्री दर्शन कर लौट सकें और धामों पर भीड़ नियंत्रित हो सके।  यानि अभी जो यात्री इस उम्मीद से जा रहा हैं कि हरिद्वार और ऋषिकेश में रजिस्ट्रेशन करा लेंगे तो उन्हें अभी इन्तजार करना होगा।

यात्रियो को श्रीनगर में रोका गया

चारधाम यात्रा पर श्रद्धालुओं का भारी सैलाब उमड़ रहा है। इसके देखते हुए प्रशासन के सारे प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। यात्रियों की भीड़ के कारण गुरुवार रात श्रीनगर से आगे बदरीनाथ-केदारनाथ हाइवे पर कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया। जाम की स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन ने केदारनाथ, तुंगनाथ, बद्रीनाथ जाने वाले यात्रियों को श्रीनगर में ही रोक दिया।  हालांकि कुछ घंटों बाद जब स्थिति सामान्य हुई तो तब थोड़ा थोड़ा करके यात्रियों को रवाना किया गया। इस बीच डीएम पौड़ी आशीष चौहान ने यात्रियों के बीच पहुंतर उन्हें समझाने की कोशिश की बेमतलब आगे की ओर न बढ़ें, जब आगे से क्लीयरेंस मिल जाए तब ही यात्रा आगे बढ़ाएं।

 

 

(Visited 70 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In