बर्फबारी में भी बाबा केदार के दर्शनों को लगी भक्तों की कतार, रास्ते में एहतियातन कई यात्रियों को रोका गया

Share this news

RUDRAPRAYAG: लगातार बारिश और बर्फबारी से केदारनाथ में तापमान में अचानक गिरावट आई है। भारी बर्फबारी के बावजूद भोले के भक्तों का जोश कम नहीं हुआ है। 24 मई को भी केदारधाम में लगातार बर्फबारी होती रही, बावजूद इसके, (Devotee qued for baba kedarn darshan despite heavy snowfall) बाबा केदार के दर्शनों के लिए भक्तों की लंबी कतार लगी रही। उत्तराखंड पुलिस के जवानों ने भक्तों को खराब मौसम में भी बाबा के दर्शन करवाए। मौसम की दुश्वारियों से चारधामों में अब तक 65 श्रद्धालुओं की मौत हो चुकी है।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक मंगलवार को भी रुद्रप्रयाग औऱ चमोली जनपद में बारिश का दौर जारी रहा। केदारनाथ धाम समेत ऊंची चोटियों पर सुबह से ही बर्फबारी होती रही। लेकिन बर्फ भी भक्तों की आस्था को नहीं रोक पाई। बर्फबारी के बीच भक्तगण कतारबद्ध होकर बाबा के दर्शन करते रहे। जो श्रद्धालु केदारनाथ धाम नहीं पहुंचे हैं, उन्हें सुरक्षा के दृष्टिगत उनके ही स्थानों पर फिलहाल के लिए रोका गया है। लेकिन जो श्रद्धालु केदारधाम में मौजूद थे, उन्होंने बर्फबारी में ही बाबा के दर्शन किए। पुलिस के जवान श्रद्धालुओँ की लगातार मदद करते रहे। केदार घाटी में बर्फवारी, बारिश के साथ घने कोहरे की चादर लिपटी है। इस वजह से गुप्तकाशी, फाटा, शेरसी से हेली सेवाओं का संचानल फिलहाल रोका गया है।

12 लाख से ज्यादा भक्त आए चारधाम

इस वर्ष चारधामों में अत्यधिक ठंड और तबीयत खऱाब होने से 65 से ज्यादा श्रद्धालुओं की मौत हुई है। सबसे ज्यादा 30 मौतें केदारनाथ धाम में हुई हैं।

गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ में सोमवार शाम तक कुल 12 लाख 1518 भक्तों ने दर्शन किए हैं। बदरीनाथ धाम कपाट खुलने 22 मई शाम तक कुल 2,81,584 और केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि 6 मई से 22 मई शाम तक 2,98,234 भक्तों ने दर्शन किए हैं। इस तरह कुल 5,79,818 भक्त यहां दर्शन कर चुके हैं। गंगोत्री में 3 मई को कपाट खुलने के बाद सोमवार शाम चार बजे तक कुल 1,82,677 और इसी दिन यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के बाद से 23 मई शाम तक 1,32,870 श्रद्वालुओं ने दर्शन किए हैं।

(Visited 81 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In