मानसखंड मंदिर माला: 16 मंदिरों के कायाकल्प की कवायद तेज, सीएम धामी के निर्देश समय रहते पूरे करें काम

Share this news

DEHRADUN: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मानसखण्ड मंदिर माला मिशन के कामों में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। मानसखंड मंदिर माला के पहले चरण में 16 मन्दिरों को चयनित किया गया है जिनका भव्यता और सुविधाओं के लिहाज से विकास किया जाना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन मंदिरों के मार्गों में आवागमन की बेहतर सुविधा के साथ ही अन्य जो भी विकास किया जाना है, उसे सुनियोजित तरीके से समयबद्धता के साथ पूरा करें। इन मंदिरों के आस-पास श्रद्धालुओं के लिए ठहरने के लिए होटल, होम स्टे की भी बेहतर व्यवस्थाएं करनी होंगी। मानसखण्ड मंदिर माला मिशन के तहत जो भी कार्य किये जा रहे हैं, 20 से 25 सालों में इन धार्मिक स्थलों पर आने वाले श्रद्धालुओं की संभावित संख्या को ध्यान में रखकर किए जाएं। मंदिर माला मिशन के तहत जो मंदिर विकसित किये जा रहे हैं, श्रद्धालुओं को दर्शन के लिए आवागमन की और बेहतर सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इसके लिए रोड कनेक्टिविटी को और मजबूत किया जायेगा। उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि मानसखण्ड कॉरिडोर के लिए सड़कों के चौड़ीकरण, सुधारीकरण एवं डामरीकरण के जो कार्य चल रहे हैं उनमें तेजी लाई जाए।

मानसखण्ड मंदिर माला मिशन के तहत पहले चरण में 16 मंदिरों की भव्यता के लिए कार्य किया जा रहा है। जिसमें जनपद अल्मोड़ा में जागेश्वर महादेव मंदिर, चितई गोलू मंदिर, सूर्यदेव मंदिर कटारमल, कसार देवी मंदिर, नन्दा देवी मंदिर, जनपद पिथौरागढ़ में पाताल भुवनेश्वर मंदिर, हाट कालिका मंदिर, जनपद बागेश्वर में बागनाथ मंदिर, बैजनाथ मंदिर, जनपद चम्पावत में पाताल रूद्रेश्वर, मां पूर्णागिरी मंदिर, मां बाराही देवी मंदिर, बालेश्वर मंदिर, नैनीताल जनपद में नैनादेवी मंदिर, कैंचीधाम मंदिर एवं जनपद उधमसिंहनगर में चैतीधाम मंदिर शामिल हैं।

(Visited 161 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In