बुजुर्ग किसान को दो साल से नहीं मिली थी किसान सम्मान निधि, सीएम धामी बने सहारा तो फौरन हुई E-KYC

Share this news

DEHRADUN: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुड गवर्नेंस का बेहतरीन उदाहरण पेश किया है। किसान सम्मान निधि की किश्त पाने से वंचित रहे बुजुर्ग की खबर जैसे ही सीएम धामी तक पहुंची, उन्होंने फौरन केवाईसी अपडेट कराने के निर्देश दिए। चंद घंटों में अल्मोड़ा के बुजुर्ग की ई- केवाईसी पूरी हो गई। इसके बाद अब बुजुर्ग के खाते में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की किश्त आ सकेगी।

दरअसल पीएम मोदी ने तीसरी बार पद संभालते ही किसान सम्मान निधि की किश्तें जारी की थी। इसी बीच एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था। वीडियो के मुताबिक अल्मोड़ा के लमगड़ा ब्लॉक अंतर्गत तुलेड़ी गांव में रहने वाले बुजुर्ग धर्म सिंह को दो वर्ष के बाद भी प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि नहीं मिल पाई थी। दरअसल उनकी आंखें कमजोर हो गई हैं। रेटिना और अंगूठे का स्कैन न होने की वजह से धर्म सिंह की ई-केवाईसी नहीं हो पा रही थी। इस वजह से उनकी किश्त अटकी हुई थी।

इस बात की सूचना जैसे ही सीएम धामी तक पहुंची उन्होंने अधिकारियों को तुरंत बुजुर्ग की ई-केवाईसी कराने के आदेश दिए। जिसके बाद सचिव शैलेश बगोली ने मामले को प्राथमिकता देते हुए अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से बुजुर्ग की ई-केवाईसी कराने के निर्देश दिए। सचिव के आदेश मिलते ही प्रशासन के आला अधिकारी बुजुर्ग के घर पहुंचें और उनकी ई-केवाईसी करवाई गई। अब जल्द ही धर्म सिंह को भी दो साल बाद अन्य किसानों की भांति किसान सम्मान निधि मिलनी शुरू हो जाएगी।

अल्मोड़ा के लमगड़ा ब्लॉक अंतर्गत तुलेड़ी गांव में रहने वाले बुजुर्ग धर्म सिंह मामले का त्वरित संज्ञान लेने पर सीएम धामी का आभार व्यक्त किया है। पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारी सरकार बुजुर्ग, महिलाओं और दिव्यांगों के कल्याण के लिए पूरी तरह से समर्पित है। हमारा प्रयास डबल इंजन सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से प्रत्येक वर्ग को लाभान्वित करना है।

 

(Visited 106 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In