सहस्त्रताल में खराब मौसम की चपेट में आया 22 ट्रैकर्स का दल, कुछ ट्रैकर्स की मौत, 10 का किया गया रेस्क्यू  

Share this news

UTTARKASHI: उत्तरकाशी में सहस्त्रताल की ट्रैकिंग पर गए 22 ट्रैकर्स का दल खराब मौसम की वजह से तीन दिन से फंसा है। इनमें से अभी तक 8 की मौत हो तुकी है, जबकि 10 ट्रैकर्स का सकुशल रेस्क्यू कर एयरलिपफ्ट किया गया है। रेस्क्यू किए गए 8 ट्रैकर्स को सहस्रधारा हेलीपैड लाया गया है जहां उनका मेडिकल चेकअप चल रहा है। एसडीआरएफ की हाई एल्टीट्यूड टीमें रेस्क्यू अभियान में जुटी हैं।

29 मई को कर्नाटक औऱ महाराष्ट्र के 22 सदस्यों का दल मल्ला-सिल्ला से कुश कुल्याण बुग्याल होते हुए सहस्त्रताल की ट्रैकिंग के लिए निकला था। तीन जून को ये दल सहस्त्रताल बेस कैंप पहुंचा था। इस ट्रैकिंग दल को 7 जून तक वापस लौटना था। लेकिन सहस्त्रताल पहुंचने के दौरान मौसम खराब होने से यह दल रास्ता भटक गया। बताया जा रहा है कि करीब 14500 फीट की ऊंचाई पर स्थित सहस्त्रताल में अचानक मौसम खराब हो गया। घने कोहरे और बर्फबारी के बीच ट्रैकर फंस गए। पूरी रात उन्हें ठंड में बितानी पड़ी। ट्रैकर्स में से किसी ने इसकी सूचना दल को ले जाने वाली गढ़वाल माउंटनेरिंग एवं ट्रैकिंग एजेंसी के मालिक को दी।

4 जून को इनमें से चार महिला ट्रैकर्स की हाइपोथर्मिया (अत्यधिक ठंड लगने) की वजह से मौत हो गई। बाकी 18 ट्रैकरों के रेस्क्यू के लिए वायुसेना के हेलीकॉप्टर्स, उत्तरकाशी पुलिस, एसडीआरएफ की हाई एल्टीट्यूड टीमों और वन विभाग के दल द्वारा रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा है। लेकिन बुधवार दोपहर तक 4 अन्य ट्रैकर्स की मौत की खबर आई। जिला प्रशासन के अनुरोध पर वायु सेना के दो चेतक हेलिकॉप्टर अभियान में लगाए गए हैं। अब तक फंसे हुए ट्रैकर्स में से दस को रेस्क्यू कर सुरक्षित लाया जा चुका है। 8 ट्रैकर्स को सहस्रधारा हेलीपैड लाया गया है जहां उनका मेडिकल चेकअप चल रहा है।

 

 

(Visited 288 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In