UKSSSC पेपर लीक: लाखों के ईनामी मास्टरमाइंड चढ़े STF के हत्थे, सादिक मूसा, योगेश्वर राव गिरफ्तार

Share this news

Lucknow/ Dehradun: UKSSSC पेपर लीक केस में जांच एजेंसियों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने इस मामले के मास्टरमाइंड सादिक मूसा और योगेश्वर राव को लखनऊ से गिरफ्तार किया है। इस केस में अब तक यह 41वीं गिरफ्तारी है। उत्तराखंड पुलिस ने सादिक पर 2 लाख और योगेश्वर पर 1 लाख रुपए का ईनाम घोषित किया था। दोनों पर देहरादून में गैंगस्टर एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज है।

पूर्व में ईनाम घोषित होने पर लगातार उत्तर प्रदेश एसटीएफ से उत्तराखंड एसटीएफ का समन्वय बना हुआ था,जिसपर यूपी एसटीएफ लगातार सक्रिय थी। गुरुवार शाम को यूपी एसटीएफ द्वारा लखनऊ पॉलीटेक्निक चौराहे से सादिक मूसऔर योगेश्वर राव को अरेस्ट किया गया। दोनों अभियुक्तों को उत्तराखंड एसटीएफ के सुपुर्द कर दिया गया है। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि उन्हें RMS टेक्नो सॉल्युसंस के UKSSSC की लिखित परीक्षा का प्रश्नपत्र कसान शेख ने जानकारी दी कि पेपर प्रिंट होते वक्त वह दोनों पेपर पहुंचाएगा। इसके बदले दोनों ने कसान को 8-8 लाख रुपये दिए। कसान ने 3 दिसम्बर को ही पेपर उपलब्ध करा दिया था। सादिक और योगेश्वर ने पेपर मिलने की जानकारी शशिकांत सिंह व केन्द्रपाल सिंह को दी। ये दोनों भी नकल माफिया गैंग के सक्रिय दलाल रहे हैं जो पुलिस गिरफ्त में हैं। सादिक और योगेश्वर केन्द्रपाल सके मिलने हल्द्वानी पहुंचे और 10 लाख रुपये प्रति कैंडिडेट के हिसाब से पेपर का सौदा किया।

उत्तराखंड में पेपर लीक केस में धरपकड़ होने के बाद जब सादिक और योगेश्वर का नाम सामने आया जिसके बाद से दोनों छिपते फिर रहे थे।

(Visited 3095 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In