रेप की बढ़ती घटनाओं के लिए महिलाओं के कपड़े जिम्मेदार, बीजेपी नेता के बयान से मचा बवाल

Share this news

KASHIPUR:  काशीपुर के पूर्व विधायक और बीजेपी के वरिष्ठ नेता हरभजन सिंह चीमा की ओर से जारी एक प्रेस नोट पर बवाल मच गया है। इस प्रेस नोट में चीमा ने दुष्कर्म की बढ़ती घटनाओं के लिए महिलाओं के पहनावे और चाल चरित्र को जिम्मेदार ठहराया है। चीमा के बयान पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस ने कहा है कि चीमा का बयान महिलाओं के प्रति बीजेपी की कुंठित सोच को दर्शाता है।

दरअसल हरभजन सिंह चीमा की ओर से 4 जुलाई को एक प्रेस नोट जारी किया गया है जिसमें उन्होंने बढ़ते महिला अपराधों पर चिंता जाहिर की है। लेकिन प्रेस नोट में कुछ बातें ऐसी लिखी हैं जिन पर बवाल हो गया है। प्रेस नोट में लिखा है कि महिलाओं और छात्राओं के प्रति पुरुषों की बढ़ रहे घृणित सोच से दुष्कर्म के मामले बढ़ रहे हैं। ये सोच चिंताजनक है और भारतीय संस्कृति के विपरीत है। नोट में आगे लिखा है, इस तरह की घटनाओं (दुष्कर्म) के लिए कहीं न कहीं महिलाएं भी जिम्मेदार हैं। उनके द्वारा अपनाई जा रही पश्चिमी पोशाक भी जिम्मेदार है। हमारे देश की संस्कृति के अनुरूप ही महिलाओं को सभ्य वस्त्र पहनने चाहिए। प्रेस नोट के माध्यम से चीमा ने अभिभावकों से अपील की है कि वे अपने बच्चों औऱपरिवार की महिलाओं को भारतीय संस्कृति के अनुरीप अंगवस्त्र धारण करने के लिए प्रेरित करें। नोट में स्कूलों से भी अपील की गई है कि छात्राओं की ड्रेस में भी संस्कृति के अनुरूप बदलाव करे। ऐसा करके दुष्कर्म जैसे मामलों में कमी लाई जा सकती है।

 

उधर चीमा के प्रेस नोट पर सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने कहा है कि पूर्व विधायक हरभजन चीमा का बयान बीजेपी की रीति-नीति और समाज के प्रति बीजेपी की सोच को प्रदर्शित करता है। गरिमा दसौनी ने कहा कि महिला अपराधों में ज्यादातर दुष्कर्म नाबालिगों के साथ हो रहे हैं। ऐसे में पूर्व विधायक हरभजन सिंह चीमा और भारतीय जनता पार्टी बताएं कि नाबालिग बच्चियों को आखिर क्या पहनाया जाए? ताकि, उन मासूमों के साथ इस तरह का कृत्य ना हो? उन्होंने कहा कि अपनी सरकार को नाकामी पर घेरने के बजाय सारा ठीकरा महिलाओं के पहनावे पर फोड़ दिया गया है, जो कि बहुत ही निंदनीय है। इस बयान के लिए चीमा को सार्वजनिक रूप से देश की तमाम मातृशक्ति से इस तरह का घिनौना और निकृष्ट बयान देने के लिए माफी मांगनी चाहिए।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने इस मामले पर सफाई दी है। महेंद्र भट्ट का कहना है कि हरभजन सिंह सीमा उनके वरिष्ठ नेता हैं, जो कि 80 वर्ष की आयु पार कर चुके हैं।  उनके जीवन के अपने तरह के अनुभव रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज के हिसाब से लोगों के विचार अलग हो सकते हैं। चीमा ने जो बयान दिया है, उससे वो पूरी तरह से अनभिज्ञ हैं।

 

 

(Visited 62 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In