चारधाम यात्रा के लिए ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन दोबारा शुरू, श्रद्धालुओं की लगी लंबी कतारें

Share this news

RISHIKESH/HARIDWAR: चारधाम यात्रा के लिए करीब 17 दिन तक बंद रहन के बाद ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन दोबारा शुरू हो गए हैं। शनिवार सुबह से ही हरिद्वार औऱ ऋषिकेश के रजिस्ट्रेशन काउंटर पर यात्रियों की लंबी लंबी कतारें लगने लगी। ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन दोबारा खुलने से यात्रियों में खुशी की लहर है। आज जो रजिस्ट्रेशन यात्रियों को मिला है, वह तत्काल यात्रा करने का रजिस्ट्रेशन है। ऋषिकेश और हरिद्वार पंजीकरण केंद्रों को 1500 का स्लॉट आवंटित किया गया है, यानी हर धाम के लिए एक दिन में 3000 लोगों का रजिस्ट्रेशन हो सकेगा।

बता दें कि 10 मई को चारधाम यात्र शुरू होती ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ने लगी थी। व्यवस्था चरमराई तो सरकार ने 15 मई को ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन बंद कर दिए थे, जिसके बाद श्रद्धालुओं में मायूसी छा गई थी। कई श्रद्धालु बिना दर्शन किए ही वापस लौट गए थे। हालांकि इस बीच प्राथमिकता के आधार पर श्रद्धालुओं को थोड़ा थोडा करके आगे भेजने की व्यवस्था थीष प्रशासन ने चारों धामों में मौजूदा भीड़ को देखते हुए बातचीत की जिसके बाद ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन खोल दिए गए। हलिद्वार और ऋशिकेश के लिए एक दिन में एक धाम के लिए स्लॉट फिक्स किए गए हैं। यानि दोनों जगहों से एक धाम के लिए एक दिन में 3000 लोगों का ही पंजीकरण हो सकेगा। शनिवार को हरिद्वार में जैसे ही पंजीकरण काउंटर खुला, 12 बजे से पहले ही स्लॉट पूरा हो गया। इससे कई श्रद्धालुओं ने हंगामा भी किया।

रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पुनः शुरू होने से यात्रियों में खुशी है और सुबह से ही बड़ी संख्या में यात्री रजिस्ट्रेशन कराने के लिए पंजीकरण केंद्र पहुंचे हुए हैं। उन्होंने कहा कि यात्री प्रतीक्षा कर रहे हैं कि कब उनका नंबर आए और वह पंजीकरण प्राप्त कर चारधाम यात्रा के लिए रवाना हों।

(Visited 55 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In