जिला आबकारी अधिकारी ने 70 हजार में बेचा ईमान, विजिलेंस ने घूस लेते हुए रंगे हाथ किया गिरफ्तार

Share this news

RUDRAPUR: भ्रष्टाचार पर धामी सरकार का प्रहार जारी है। ऊधमसिंह नगर में विजिलेंस की टीम ने जिला आबकारी अधिकारी को 70 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।अधिकारी शराब कारोबारी से अधिभार उठाने के एवज में घूस ले रहा था।

सरकारी अधिकारियों से लेकर निजी संगठनों तक हर स्तर पर भ्रष्टाचार का जाल किस तरह फैला हुआ ये इसकी तस्दीक के लिए ऊधमसिंह नगर का ये मामला समझें। दरअसल शिकायतकर्ता ने विजिलेंस को शिकायत की थी कि उसकी देशी मदिरा की दुकान खटीमा में है, जो 2023-24 में आवंटित हुई थी जिसे पुनः वर्ष 2024-25 में नवीनीकरण करा लिया गया। 2023-24 में शिकायतकर्ता द्वारा सम्पूर्ण अधिभार जमा करा दिया गया था। पिछले वर्ष में जमा अधिभार का 10,21,417 रूपये का माल शिकायतकर्ता नहीं ले पाया था, जो वो अब लेना चाहता है। जिस पर जिला आबकारी अधिकारी अशोक कुमार मिश्रा ने अधिभार के 10 प्रतिशत के हिसाब से एक लाख रुपए की रिश्वत की मांग की। इसमें से 30 हजार रुपए शिकायतकर्ता ने आबकारी अधिकारी को पहले ही दे दिए थे। शिकायतकर्ता और रिश्वत नहीं देना चाहता था, इसलिए विजिलेंस ने आबकारी अधिकारी को रंगे हाथ पकड़ने के लिए जाल बुना।

जैसे ही शराब कारोबारी शेष 70 हजार रुपए देने अधिकारी के पास पहुंचा, विजलेंस टीम की दबिश देकर अशोक मिश्रा को 70 हजार रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ दबोच लिया। विजिलेंस टीम ने जिला आबकारी अधिकारी के घर की तलाशी लेने के साथ-साथ उनकी संपत्तियों की भी जांच शुरू कर दी है। सीएम पुष्कर सिंह धामी के सख्त निर्देशों के तहत भ्रष्टाचारियों पर लगातार हो रही कार्रवाई से भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है। विजिलेंस के अनुसार जिला आबकारी अधिकारी उधमसिंहनगर के खिलाफ लंबे समय से शिकायतें मिल रही थीं। आरोप है कि शराब उठाने के परमिट को लेकर यह अधिकारी ठेकेदारों को अक्सर टालमटोल कर रहा था।

 

 

(Visited 134 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In