दिनभर गहमागहमी के बाद शाम को हुआ अंकिता का दाह संस्कार, नम आंखों से विदाई देने उमड़े लोग

Share this news

Shrinagar: गम गुस्से और आक्रोश के बीच आखिरकार पहाड़ की बेटी अंकिता भंडारी पंचतत्व में विलीन हो गई। परिजनों को सीएम धामी के अस्वाशन और प्रशासन की समझाइश के बाद अंकिता के परिजन अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुए और शाम करीब 6 बजे आईटीआई घाट पर अंकिता की अंत्येष्टि की गई।

इससे पहले दिनभर श्रीनगर में हजारों लोग जूट रहे। मोर्चरी के बाहर लोगों ने प्रदर्शन किया और दोषियों को फांषी की मांग की। आक्रोशित लोगों ने बद्रीनाथ हाइवे जाम किया निससे घंटों तक स्वीत से लेकर कीर्तिनगर तल वाहन फंसे रहे। लोगोंकी प्रशासन के साथ कई बार झड़प हुई।

अंकिता के परिजनों ने भी सुबह अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया था। शाम होत्र होते कई दौर की बातचीत के बाद वो माने। सीएम धामी ने अंकिता के पिता से फोन पर बात की और निष्पक्ष जांच का भरोसा दिया।सीएम ने भरोसा दिया कि सभी जरूरी सबूत जुटाये गये हैं और केस मि सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी। इसके बाद ही अंकिता के परिजन अंतिम क्रिया के लिए माने। मोर्चरी से शव को एम्बुलेंस में आईटीआई घाट ले जाया गया जहां अंकिता के भाई के मुखाग्नि दी। इस दौरान घाट पर भी अंकिता को अंतिम विदाई देने लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा।

(Visited 2967 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In