अंकिता का शव ऋषिकेश पहुंचने पर लोगों में आक्रोश, विधायक रेनू बिष्ट का तीखा विरोध,सीएम ने दिए SIT जांच के निर्देश

Share this news

RISHIKESH: ऋषिकेश में अंकिता भंडारी की हत्या की खबर से सनसनी फैली हुई है। उत्तराखंड SDRF ने शनिवार सुबह अंकिता भंडारी का शव चीला नहर से बरामद कर लिया। अंकिता भंडारी के पिता ने शव की शिनाख्त की है। उधर सीएम धामी ने घटना पर दुख जताते हुए मामले की गहराई से जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है।
SDRF ने कहा कि सुबह 7 बजे सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। हमें यहां एक महिला का शव मिला जिसको निकाला गया। उसके परिजन शिनाख्त के लिए यहां आए थे। परिजनों द्वारा बताया गया है कि वो अंकिता भंडारी का ही शव है। शव को पंचनामा करके पोस्टमार्टम के लिए ऋषिकेश के एम्स ले जाया गया है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आज बेटी अंकिता का शव बरामद कर लिया गया। इस हृदय विदारक घटना से मन अत्यंत व्यथित है। दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए पुलिस उपमहानिरीक्षक पी. रेणुका देवी के नेतृत्व में SIT का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के भी आदेश दे दिए हैं।
गौरतलब कि गंगा भोगपुर क्षेत्र में वनन्तरा रिजॉर्ट का मालिक पुलकित आर्य अंकिता पर गलत काम करने का दबाव बना रहा था। अंकिता ने जब इस बात की सच्चाई उजागर करने की कोशिश की तो पुलकित ने अपने सथियों के साथ अंकिता की नहर में धकेलकर हत्या कर दी थी।
विधायक रेनू बिष्ट का विरोध
उधर अंकिता के गुम होने की खबर के सातवें दिन जब उसका शव मिल गया तब जाकर यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट को परिजनों से मुलने का ध्यान आया। विधायक जब ऋषिकेश एम्स पहुंची तो उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा। लोगों ने उनकी गाड़ी का घेराव किया और नारेबाजी की। आक्रोशित लोगों ने रेनू बिष्ट की गाड़ी के शीशे भी तोड़ डाले।

(Visited 4938 times, 1 visits today)

You Might Be Interested In